Flow of Words Blog

Insaan Kitna Murkh Hai 0

Insaan Kitna Murkh Hai

इन्सान कितना मूर्ख है इन्सान कितना मूर्ख है प्रार्थना करते समय सोचते है, कि भगवान सब सुन रहे है लेकिन किसी की निन्दा करते समय,ये भूल जाते है पुण्य का कार्य करते समय सोचते...

Pyaar ka izhaar 0

Pyaar Ka Izhaar

प्यार का इजहार वो गुड्डे-गुड़ियों का खेल आज ही हकीकत बन सामने आयी थी……. सच बताओ वो खेल था,गाना सुनाने का या फिर तरीका था, मुझे अपने करीब लाने का…. एक शाम मै भी...

Ae Zindagi 0

Ae Zindagi

ए– ज़िन्दगी ए– जिंदगी! तेरे इस माया जाल में खुद को तलाशती हूं मैं गिरती हूं, उठती हूं फिर चलना सीख जाती हूं मुझे नहीं पता क्या है गलत,सही क्या है बस मुश्किलों में...

Kuch Kehna Chahti Hai Humse 0

Kuch Kehna Chahti Hai Humse

कुछ कहना चाहती है, हमसे प्रकृति कुछ कहना चाहती है, हमसे इन पत्तों का झूमना ये हवाओं का चलना पेड़ों पर फुदकते चिड़ियों का शोर कुछ कहना चाहती है, हमसे बारिश में नाचते मोर...

Coronavirus 0

Coronavirus

कोरोना वायरस किसे पता था,ऐसा भी वक़्त देखना पड़ेगा…. हर पल यू,हाथ धोना पड़ेगा… अब समझ आया,उन बेजुबान पंक्षियों और जानवरों की हालत… जब कुछ महीने घर पे रहने की लगी आदत… किसे पता...